https://www.xxzza1.com
Home News बेरोजगारी की समस्या के चलते अमेरिका में वर्क वीजा पर प्रतिबंध इस साल के अंत तक

बेरोजगारी की समस्या के चलते अमेरिका में वर्क वीजा पर प्रतिबंध इस साल के अंत तक

अमेरिका में कोरोना वायरस महामारी के चलेत बढ़ते बेरोजगारी को देखते हुए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप यूएस वर्क वीजा पर लगे प्रतिबंध को साल के अंत तक के लिए बढ़ाने जा रहे हैं। समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार ट्रंप इसमें H1-B वीजा श्रेणी में शामिल कर सकते हैं। कोरोना वायरस महामारी में लाखों अमेरिकी लोगों को नौकरी गई है। अमेरिकी वरिष्ठ प्रशासन को उम्मीद है कि वीजा प्रतिबंध से देश में 5 लाख 25 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

donald trump pic

एच1बी वीजा के निलंबन से प्रभावित होने वाले देशों में भारत प्रमुख हैं, क्योंकि भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी पेशेवर इस वीजा की सबसे ज्यादा मांग करने वालों में से हैं। अमेरिकी वित्त वर्ष एक अक्टूबर से शुरू होता है और तब कई नए वीजा जारी किए जाते हैं।

अमेरिका में हर साल 85,000 लोगों को एच-1बी वीजा मिलता है। उसमें भी कुल एच -1बी वीजा का 70 फीसदी सिर्फ भारतीयों को जाता है। बड़ी संख्‍या में भारतीय इस वीजा के लिए अप्‍लाई करते हैं। एच-1 बी वीजा कुछ कुशल श्रमिकों के लिए डिजाइन किए गए हैं जैसे कि विज्ञान, इंजीनियरिंग और सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में कार्यरत है। एच-2बी वीजा श्रमिकों जैसे होटल और निर्माण कर्मचारी को दिए जाते हैं। एल -1 वीजा अधिकारियों के लिए हैं बड़े निगमों और जे -1 वीजा के लिए शोध विद्वानों, प्रोफेसरों और अन्य सांस्कृतिक और कार्य-विनिमय कार्यक्रमों को जारी किया जाता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ताजा खबरें